Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

श्रम कानूनों के विरोध में ट्रेड यूनियनों ने भेजा ज्ञापन

श्रम कानूनों के विरोध में ट्रेड यूनियनों ने भेजा ज्ञापन



बस्ती, 10 जुलाई।
मोदी सरकार द्वारा चार श्रम संहिता कानूनों को लागू करने के खिलाफ श्रमिको में देश व्यापी आक्रोश है। सीटू सहित ट्रेड यूनियनों के राष्ट्रीय फेडरेशन के अखिल भारतीय मांग दिवस के क्रम में सीटू से संबद्ध विभिन्न यूनियनों ने जुलूस निकाल कर प्रशासन के माध्यम से प्रधान मंत्री को संबोधित ज्ञापन प्रेषित किया। सबसे पहले सीटू से संबद्ध यूपीएम एसआरए ने न्याय मार्ग स्थित सीटू कार्यालय से जुलूस निकाल कर विकास भवन स्थित उपश्रमायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए प्रधान मंत्री को संबोधित ज्ञापन उप श्रमायुक्त को सौंपा। 


दोपहर में सीटू से संबद्ध रसोइया, आशा, संविदा, बिजली नगर निकाय की यूनियनों के पदाधिकारी सीटू कार्यालय पर इकट्ठा हो कर जुलूस लेकर जिलाधिकारी कार्यालय पर पहुंच कर प्रदर्शन करते हुए प्रधान मंत्री को संबोधित 13 सूत्रीय ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारी को सौंपा। सीटू नेता कामरेड के के तिवारी ने कहा कि केंद्र सरकार पूंजीपतियों के दवाब में स्थापित श्रम कानूनों में मजदूर विरोधी संशोधन कर चार श्रम संहिता के रूप में लागू कर रही है,जो स्वीकार्य नहीं होगा।प्रदेश में न्यूनतम वेतन बोर्ड गठित करने ,रसोइया सहित अन्य योजना श्रमिको को पेंशन,सामाजिक सुरक्षा दिए जाने, संविदा कर्मियों को नियमित करने आदि मांगे प्रमुख है प्रदर्शन में राकेश उपाध्याय, ध्रुव चंद,उर्मिला चौधरी, राम निरख यादव, प्रेमेद्र  कुमार सिंह,  कुमार, सुंदरी, नवनीत यादव, अनिता सिंह, संतोष कुमार, यशोदा, सुनीता देवी, सविता,रानी, रीता सिंह, मंजू देवी आदि शामिल रहे।

Tags

Post a Comment

0 Comments

Below Post Ad